चंद्र ग्रहण 2024: तिथि और महत्व

चंद्र ग्रहण 2024: तिथि और महत्व
  • 02 Feb 2024
  • Comments (0)

 

2024 में पहला चंद्र ग्रहण: तिथि और महत्व

नए साल की शुरुआत के साथ ही खगोलीय घटनाओं का सिलसिला भी प्रारंभ हो जाता है, और 2024 में पहला चंद्र ग्रहण इसी का एक खास उदाहरण है। यह अलौकिक नज़ारा ना सिर्फ वैज्ञानिक रूप से महत्वपूर्ण है, बल्कि ज्योतिष और धर्मशास्त्र में भी इसका खास स्थान है। आइए, विस्तार से जानें 2024 के पहले चंद्र ग्रहण के बारे में, जिसमें इसकी तिथि, समय और महत्व को समाहित करेंगे।

 

ग्रहण क्या होता है?

सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण, खगोलीय घटनाएं हैं जो तब घटित होती हैं जब सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक सीध में आ जाते हैं। चंद्र ग्रहण के दौरान, पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच में आ जाती है, जिससे पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है। नतीजतन, चंद्रमा का कुछ हिस्सा या पूरा हिस्सा धुंधला या लालिमा लिए हुए दिखाई देता है।

 

चंद्र ग्रहण 2024 : तिथि और समय

2024 का पहला चंद्र ग्रहण सोमवार, 25 मार्च 2024 को होगा। यह आंशिक चंद्र ग्रहण होगा, जिसका अर्थ है कि चंद्रमा का केवल एक हिस्सा ही पृथ्वी की छाया से ढका होगा। ग्रहण की शुरुआत भारतीय समयानुसार सुबह 10 बजकर 41 मिनट पर होगी और दोपहर 3 बजकर 1 मिनट पर समाप्त होगी। हालांकि, ग्रहण का अधिकतम ग्रास (पृथ्वी की छाया से ढका भाग) दोपहर 12 बजकर 43 मिनट पर दिखाई देगा।

 

चंद्र ग्रहण का महत्व

खगोलीय रूप से, चंद्र ग्रहण हमें ब्रह्मांड के गतिशील और परिष्कृत नृत्य को देखने का अवसर प्रदान करता है। यह चंद्रमा की कक्षा और पृथ्वी और सूर्य के सापेक्षिक स्थान को समझने में हमारी मदद करता है।

 

ज्योतिष और धर्मशास्त्र में चंद्र ग्रहण को एक महत्वपूर्ण घटना माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि ग्रहण के दौरान ग्रहों और चंद्रमा की स्थिति का पृथ्वी पर होने वाली घटनाओं पर प्रभाव पड़ता है। चंद्र ग्रहण के बारे में कुछ खास मान्यताएं भी प्रचलित हैं, जैसे कि गर्भवती महिलाओं को ग्रहण देखने से बचना चाहिए।

 

चंद्र ग्रहण 2024

 

यहां पढ़ें: चंद्र ग्रहण अंग्रेजी में

 

क्या भारत में दिखाई देगा 2024 का चंद्र ग्रहण?

दुर्भाग्य से, 2024 का पहला चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। यह मुख्य रूप से यूरोप, अफ्रीका, उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। हालांकि, आप इसे ऑनलाइन लाइव स्ट्रीम के माध्यम से देख सकते हैं या ग्रहण की तस्वीरें देख सकते हैं।

 

निष्कर्ष: चंद्र ग्रहण 2024

2024 का चंद्र ग्रहण, न केवल एक खूबसूरत खगोलीय घटना है, बल्कि ज्योतिष और धर्मशास्त्र में भी इसका खास महत्व है। भले ही यह भारत में दिखाई न दे, लेकिन इसकी जानकारी रखना और ब्रह्मांड के इस नज़ारे के बारे में समझना महत्वपूर्ण है।

 

2024 चंद्र ग्रहण से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

1. भारत में कब दिखाई देगा अगला चंद्र ग्रहण?

हालांकि भारत ने 2024 के पहले चंद्र ग्रहण का नज़ारा नहीं लिया, लेकिन अगला चंद्र ग्रहण, जो भारतीय समयानुसार 18 सितंबर, 2024 की सुबह शुरू होगा, भी भारत में दिखाई नहीं देगा। यह भी एक आंशिक चंद्र ग्रहण होगा और यूरोप, दक्षिणी अमेरिका और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। हालांकि, चंद्र ग्रहणों का सिलसिला यहीं नहीं रुकता। धैर्य रखें और खगोलीय घटनाओं के कैलेंडर पर नज़र रखें - भारत को जल्द ही एक अदृश्य नज़ारा देखने का मौका मिल सकता है।

 

2. क्या ग्रहण का पृथ्वी पर कोई असर पड़ता है?

ज्योतिष और धर्मशास्त्र में चंद्र ग्रहण को अक्सर पृथ्वी पर होने वाली घटनाओं से जोड़ा जाता है। हालांकि, वैज्ञानिक रूप से इसके सीधे प्रभाव के प्रमाण कम ही हैं। ग्रहण के दौरान पृथ्वी के ज्वारीय पैटर्न में कुछ बदलाव आ सकते हैं, लेकिन ये प्रायः न के बराबर होते हैं।

 

3. क्या ग्रहण देखने के लिए कोई खास सावधानी बरतने की ज़रूरत है?

सीधे सूर्य की ओर देखना हानिकारक है, लेकिन चंद्र ग्रहण को नग्न आंखों से देखना आम तौर पर सुरक्षित है। हालांकि, बेहतर अनुभव के लिए आप टेलीस्कोप या दूरबीन का उपयोग कर सकते हैं, खासकर यदि आप बच्चों के साथ ग्रहण का नज़ारा ले रहे हैं। बस ज़रूरी सावधानी यह है कि किसी अनुभवी व्यक्ति की देखरेख में ही उपकरणों का उपयोग करें।

 

4. भविष्य में ग्रहणों के बारे में जानकारी कहां से प्राप्त करूं?

ग्रहणों और अन्य खगोलीय घटनाओं के बारे में अपडेट रहने के लिए कई शानदार संसाधन उपलब्ध हैं! अंतरिक्ष एजेंसियों की वेबसाइटें, जैसे नासा या भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), नियमित रूप से अपडेट प्रदान करती हैं। साथ ही, कई विज्ञान पत्रिकाएं और वेबसाइटें भी हैं जो आगामी खगोलीय घटनाओं के बारे में जानकारी और समय सारिणी प्रदान करती हैं। और, अपने स्मार्टफोन पर कुछ लोकप्रिय ज्योतिष ऐप्स में से एक डाउनलोड करने पर भी आपको ग्रहण के बारे में सूचनाएं मिलती रहेंगी।

 

5. क्या ग्रहण देखना अलौकिक अनुभव है?

जी हां, बिल्कुल! चंद्र ग्रहण का नज़ारा लेना एक अविस्मरणीय अनुभव हो सकता है। यह ब्रह्मांड के रहस्यों की एक झलक पाने का अवसर है और ब्रह्मांड के नाजुक संतुलन की सराहना करने का मौका देता है। भले ही भारत से इसे न देख पाएं, लेकिन खबरदार! अगले ग्रहण का बेसब्री से इंतजार करें और जब मौका मिले तो इस आश्चर्यजनक खगोलीय घटना का अवश्य आनंद लें।

 

इस तरह के और भी दिलचस्प विषय के लिए यहां क्लिक करें - Instagram

 

Author :

Comments

Related Blogs

Lord Ganesha : The Supreme Astrologer
  • 10 Oct 2023
Lord Ganesha : The Supreme Astrologer

In astrology, ganesh bhagwaan is venerated for His...

Read More
Benefits of Consulting Astrologers: Advantages You Need to Know
  • 16 Oct 2023
Benefits of Consulting Astrologers: Advantages You Need to Know

Astrology consultation is the practice of seeking...

Read More
Harmony in Marriage: Vedic Astrology Remedies for Couples
  • 22 Oct 2023
Harmony in Marriage: Vedic Astrology Remedies for Couples

Harmony in Marriage, according to Vedic astrology,...

Read More

Copyright © 2023 Astroera. All Rights Reserved. | Web Design Company: Vega Moon Technologies